loading-icon

तुमसे नहीं ख़ुदा से खफा हूँ - Poetry | Himanshu Dhiraj Mishra (himstar)

तुमसे नहीं ख़ुदा से खफा हूँ - Poetry | Himanshu Dhiraj Mishra (himstar) | Touchtalent
Title : तुमसे नहीं ख़ुदा से खफा हूँ
Artist Name: Himanshu Dhiraj Mishra (himstar)
Category : Poetry
Creation date : 21 March, 2013
Page Views : 16332
Comments : 58
Broadcasts : 8
Favourites : 8
Rating : 5
Description : नाराज़ नहीं मै तुमसे ख़ुदा से खफा हूँकरना होता है जुदा तो मिलाते क्यों हो ?सुना है हर मंजिल मिल जाती है ढूँढने सेमगर मंजिल ही नहीं जिसकी वो रास्ता दिखाते क्यों हो ?बने नहीं रिश्ते इतने जितने टूट गएदूर करना ही था सबसे तो पास लाते क्यों हो ?नहीं जाती उन रिश्तों की याद दिल सेभूलना ही था तो उन्हें याद दिलाते क्यों हो ?गर जख्न्म ही देना है तुम्हे बार-बारफिर इतना नाजुक दिल बनाते ही क्यों हो ?जानते हो सर झुकेगा नहीं मेरा भी तेरे दर परफिर हर बार मुझे अजमाते क्यूँ हो ? ---------- Himstar , idiot,initiate,innovate....................